Filters
Blog options
Search
Filters
Filters
Blog options
Blog archive
Close

बेरीज़ के 9 अमेज़िंग हेल्थ बेनेफ़िट्स

बेरीज़ के 9 अमेज़िंग हेल्थ बेनेफ़िट्स

क्यों हैं बेरीज़ आपके लिए इतना फ़ायदेमंद
बेरीज छोटे-छोटे नीले, लाल, बैंगनी और हरे रंगों में मिलने वाले फल हैं, जो स्वाद में खट्टे-मीठे होते हैं. बेरीज़ काफ़ी आकर्षक रूप से रंगीन होते हैं। इन बेरीज़ में ज़बरदस्त हेल्थ बेनेफिट होते हैं। इन जीवंत व चटकीले रंगो वाले आकर्षक बेरीज़ को देखते ही यह अंदाज़ा हो जाता है कि प्रकृति ने यह कुछ ख़ास बनाया है हमारे लिए ज़रूर फ़ायदेमंद होगा। फाइबर, विटामिन सी, माइक्रो न्यूट्रीयेंट्स आदि के अलावा बेरीज़ में प्रचुर मात्रा में एंटी-ऑक्सिडंट होते हैं। इन एंटीऑक्सिडेंट्स में एंटी-इनफ़्लेमेटरी गुण होते हैं, जो उम्र बढ़ने के साथ आपके शरीर को बीमारियों से बचाने में मदद कर सकते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट्स आपके लिए एक पावरफुल डी-टॉक्सिफ़ायर का काम करता है।

क्या हैं ये एंटीऑक्सीडेंट?
एंटीऑक्सीडेंट ऐसे मॉलेक्यूल होते हैं जो आपके शरीर में फ्री-रैडिकल्स से लड़ते हैं। एंटीऑक्सिडेंट शरीर की कोशिकाओं को नुकसान से बचाते हैं। वे ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को रोकने और रिपेयर करने में मदद करते हैं, जो सामान्य सेल-फ़ंक्शनिंग के दौरान होने वाली एक नैचुरल प्रोसेस है।
फ्री-रैडिकल्स ऐसे कम्पाउंड होते हैं जिनका स्तर यदि आपके शरीर में बहुत अधिक हो जाए तो नुकसान पहुंचा सकते हैं। वे एजिंग, डाइबीटीज़, हार्ट-डिजीज, हृदय रोग और कैंसर सहित कई बीमारियों से जुड़े हुए हैं। इन फ्री-रैडिकल्स को नियंत्रण में रखने के लिए आपको एंटीऑक्सीडेंट की ज़रूरत होती है।
इष्टतम स्वास्थ्य के लिए आहार में एंटीऑक्सीडेंट का सेवन ज़रूरी है। प्राकृतिक रूप से एंटीऑक्‍सीडेंट्स बेरीज़, फल और सब्जियों में पाए जाते हैं। बेरीज़ एंथोसायनिन, एलाजिक एसिड और रेस्वेराट्रोल जैसे एंटीऑक्सिडेंट्स का एक बड़ा स्रोत हैं। किसी भी एंटीऑक्सीडेंट प्रोडक्ट पावर या स्ट्रेंथ उसके ORAC पर निर्भर करता है।

ORAC का मतलब क्या है?
ORAC एंटीऑक्सीडेंट की ताकत को मापने की इकाई है और यह खाद्य पदार्थों में एंटीऑक्सीडेंट क्षमता निर्धारित करने का एक विश्वसनीय तरीका है। यह वह इकाई है जो फ्री रेडिकल्स को बेअसर करने की एंटीऑक्सीडेंट की क्षमता को मापती है। ORAC वैल्यू जितना अधिक होगा, उतनी ही उस फ़ूड की एंटीऑक्सीडेंट क्षमता मजबूत होगी। इंटर्नैशनल रेफ़्रेन्स के अनुसार, स्वस्थ इम्यून सिस्टम के लिए हमें प्रति-दिन 3000-5500 ORAC सेवन की आवश्यकता होती है।बेरीज के फाइबर सेहत के लिए लाभकारी होता है और पाचन क्रिया को सुधारता है। बेरीज में मौजूद विटामिन सेहत को सुधारने में मदद करते हैं और इम्यून-शक्ति को बढ़ाते हैं। न्यूट्रीयेंट्स व स्वाद से भरपूर ये बेरीज़ स्वास्थ्य-गुणों का खजाना हैं।

बेरीज़ के 9 अद्भुत हेल्थ बेनेफिट

1. एंटी-एजिंग व ब्यूटी के लिए
बेरीज़ में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स, विटामिन्स व मिनरल्स आपके लिए एंटी-एजिंग का काम करते हैं और सुंदरता को बढ़ावा देते हैं। वे त्वचा को फ्री-रैडिकल से होने वाले नुकसान से बचाते हैं, इंफ़्लेमेशन कम करते हैं और कोलाजेन उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। बेरीज़ में ऐसे कम्पाउंड भी होते हैं जो स्किन ईलैस्टिसिटी को बेहतर बनाते हैं, स्किन टायटेनिंग में मदद करते हैं और त्वचा में निखार लाते है। इसलिए बेरीज़ के प्रतिदिन सेवन से आपको एंटी-एजिंग और सौंदर्य लाभों में मदद मिल सकती है। क्लिंजिंग थेरापी, ख़ास कर लिवर-क्लिंजिंग के साथ यदि आप बेरीज़ का सेवन करते हैं तो यह आपके एंटी-एजिंग पर ज़बरदस्त रिज़ल्ट देता है।

2. इनफ़्लेमेशन घटाता है व हृदय-रोग से बचाव करता है
बेरीज़ में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स आपके शरीर में हेल्दी सेल-फ़ंक्शनिंग को बढ़ावा देते हैं और आपको इनफ़्लेमेशन से बचाते हैं। बेरीज़ में फ्लेवोनोइड्स, एंटीऑक्सीडेंट के प्लांट- कम्पाउंड उच्च मात्रा में होते हैं जो इन्हें एक सुपरफूड बनाता है। बेरीज़ बॉडी के वेस्क्यूलर फ़ंक्शन में सुधार लाता हैं और इसलिए ये हृदय-रोग की संभावना को कम करते हैं।

3. ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखता है
एक अध्ययन के अनुसार, ब्लूबेरी में मौजूद एंथोसायनिन आपके रक्तप्रवाह में प्रसारित होते हैं, जहां वे रक्त वाहिका के कार्य में सुधार कर सकते हैं। बेरीज़ में मौजूद रासायनिक कम्पाउंड उच्च-रक्तचाप के साथ होने वाली सिस्टेमिक इनफ़्लेमेशन से लड़ते हैं, जिससे आपके शरीर को ओवर-ऑल हेल्दी बनाने में मदद मिलती है।

4. डाइबीटीज़ से बचाव या बेहतरी के लिए
बेरीज़ विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट और मिनेरल्स से भरपूर होते हैं। मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए, ब्लूबेरी ग्लूकोज प्रॉसेसिंग, इंसुलिन सेन्सिटिविटी व वेट मैनेजमेंट में मदद करता है।
बेरीज़ मीठे होते हैं लेकिन वैसे भी नहीं जो डाइबेटिक लोगों के नुक़सानदेह हों। इनमें ग्लाइसेमिक लोड कम होता है, जिसका अर्थ है कि इनसे रक्त शर्करा के स्तर में तेज बदलाव होने की संभावना नहीं है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स एक पैमाना है जिस पर कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों को रैंक किया जाता है। उच्च स्कोर वाले खाद्य पदार्थ तेजी से रक्त शर्करा बढ़ाते हैं, जबकि कम स्कोर वाले खाद्य पदार्थ केवल धीरे-धीरे रक्त शर्करा बढ़ाते हैं। कम रैंकिंग मतलब जीआई स्कोर 55 से नीचे, मीडीयम स्कोर मतलब 55 और 70 के बीच और हाइ स्कोर का मतलब है 70 से ऊपर है। स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी और रास्पबेरी सभी का स्कोर 40 से नीचे है।

5. वज़न बनाए रखने या कम करने में मदद
बेरीज़ के सेवन से भरपूर पोषण मिलता है और भूख कम हो जाती है। आपको लंबे समय तक तृप्त व भरा हुआ महसूस होता है जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है। प्रचुर एंटीऑक्सिडेंट, माइक्रो न्यूट्रीयेंट्स और ख़ास पॉलीफेनोल्स आपके समग्र स्वास्थ्य का समर्थन कर सकते हैं और वजन घटाने में मदद कर सकते हैं।
बेरीज़ फ़ैट-बर्न व फ़ैट-स्टोरेज नियंत्रित करने वाले जीन को प्रभावित कर सकते हैं जिससे पेट की चर्बी और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है।


6. कैंसर से लड़ने में मददगार
बेरीज़ को कैंसर से लड़ने के लिए एक सीक्रेट हथियार माना जाता है। फ्लेवोनोइड से भरपूर बेरीज़, जैसे ब्लूबेरी और रास्पबेरी, कैंसर-प्रिवेन्शन डायट आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। बेरीज़ हमें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल, स्तन, यकृत, प्रोस्टेट, अग्नाशय और फेफड़ों के कैंसर से बचाने में मदद कर सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एंथोसायनिन और फ्लेवोनोइड जैसे कम्पाउंड इंफ़्लेमेशन को कम करने, कोशिकाओं को डीएनए क्षति से बचाने में मदद करते हैं जो कैंसर का कारण बनती है।

7. आपको मानसिक रूप से तेज़ रखते हैं
बेरीज़ में मौजूद एंथोसायनिडिन की वजह से ये आपको मानसिक रूप से तेज़ व सजग रखने में मदद करते हैं। यह एंथोसायनिडिन नामक कम्पाउंड्स के एक वर्ग के कारण होता है, जो एक प्रकार का फ्लेवोनोइड है। ये कम्पाउंड्स ख़ास तौर से से बेरीज़ में ही पाए जाते हैं, जो आपकी मदद करते है - ब्लड-ब्रेन बैरियर को पार करने में और मस्तिष्क में सीखने और लर्निंग सेंटर का पता लगाने में। इसीलिए रेगुलर बेरीज़ का सेवन करने वाले लोग मानसिक तौर पर ज़्यादा सजग व शार्प होते हैं और उन्हें समय के साथ मानसिक गिरावट का अनुभव कम होता है।

8. यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फ़ेक्शन में बेहद प्रभावी
बेरीज़, ख़ासकर क्रैनबेरी, यूरिनरी ट्रैक्ट (मूत्र-पथ) के संक्रमण से लड़ने में मदद करने की अपनी क्षमता के लिए जाने जाते हैं। उनमें ऐसे कम्पाउंड होते हैं जो बैक्टीरिया को यूरिनरी ट्रैक्ट की दीवारों से जुड़ने से रोक सकते हैं, जिससे संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। बेरीज़ में एंटी-इंफ़्लेमेट्री गुण भी होते हैं जो यूरिनरी ट्रैक्ट में सूजन को कम करने और यूटीआई के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। नियमित रूप से बेरीज़ का सेवन करने से यूरिनरी ट्रैक्ट के संक्रमण को रोकने और मैनेज करने में मदद मिल सकती है।

9. बेहतर पाचन और गट-हेल्थ के लिए
बेरीज़ अपनी हाइ फाइबर कॉन्टेंट और कुछ ख़ास तत्वों के कारण आपके पाचन स्वास्थ्य के लिए बहुत बढ़िया है। इसका नियमित सेवन पाचन में मदद करता है और रेगुलर बोवेल मूव्मेंट को सपोर्ट करता है। कब्ज को रोकने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त, बेरीज़ में प्राकृतिक कम्पाउंड होते हैं जो बेनेफ़िशियल गट-बैक्टीरिया को बढ़ावा देते हैं। ये आंत-अनुकूल बैक्टीरिया भोजन को तोड़ने, पोषक तत्वों को अवशोषित करने और समग्र पाचन क्रिया को बेहतर बना देते हैं। विभिन्न प्रकार के बेरीज़ का सेवन स्वस्थ गट-माइक्रोबायोम को बनाए रखने और इष्टतम पाचन स्वास्थ्य में मदद करते हैं।

हेल्थ बेनेफ़िट्स के हिसाब से यदि टॉप 16 बेरीज़ को बात करें तो वो हैं - सीबकथॉर्न, मलबेरी (शहतूत), मैंगोस्टीन, क्रैनबेरी, क्रो-बेरी, अकाइबेरी, ब्लैकबेरी, ड्यूबेरी, बे-बेरी, गोजीबेरी, स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, बियरबेरी, गुजबेरी (आँवला), रास्पबेरी और बिलबेरी

ड्यूबेरीज़ त्वचा की उम्र बढ़ने को धीमा करती है। बिलबेरी एक प्राकृतिक एंटी-एजिंग कोलेजन बूस्टर है क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में बायोफ्लेवोनॉइड्स और एंटीऑक्सीडेंट हैं। बेयरबेरी त्वचा पर झुर्रियों और महीन रेखाओं की उपस्थिति को कम करता है। बेयरबेरी एक पावरफुल स्किन-लाइटनर भी है। बे-बेरी में कैरोटीन, राइबोफ्लेविन, विटामिन C, एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। सीबकथॉर्न में ओमेगा 3,6 और 9 का हाइ कॉन्सेंट्रेशन होता है जिसकी वजह से यह फ़ाइन-लाइन और झुर्रियों को कम करता और सेल का रीजेनरेशन करता है। क्रोबेरी में भरपूर एंथोसायनिन होता है। गुजबेरी विटामिन C का ख़ज़ाना है और उसमें होते हैं एलेजिक एसिड, गैलिक एसिड, एम्ब्लीकैनिन, फाइलेम्बिन, क्वेरसेटिन और एस्कॉर्बिक एसिड।

मलबेरी विटामिन ए, विटामिन ई और कैरोटीनॉयड से भरपूर होता है। रास्पबेरी में पॉलीफेनोल्स होते हैं। अकाईबेरी विटामिन A, C, E व ओमेगा 3, 6 फ़ैटी एसीड से लैस है। ब्लूबेरी में एंथोसायनिन, क्लोरोजेनिक एसिड, माइरी-सेटिन और आर्बुटिन जैसे न्यूरो-प्रोटेक्टेंट होते हैं। क्रैनबेरी विटामिन सी और सैली-सिलिक एसिड से भरपूर होते हैं। स्ट्रॉबेरी में ख़ास एलेजिक एसिड होता है। ब्लैकबेरी आपकी आँखो में चमक लाता है व काले धब्बे हटाता है। मैंगोस्टीन में प्राकृतिक जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण होते हैं.

लेकिन ये सभी बेरीज़ बहुत महंगे हैं और वे केवल कुछ चुनिंदा स्थानों पर ही उपलब्ध हैं। कभी-कभार आपने इनमें से एक-दो का सेवन आपने कर भी लिया तो आपको वो फ़ायदे नहीं मिलते जो इन सारे के सारे 16 बेरीज़ को नियमित रूप से लेने से मिलेंगे।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए गोयंग ने आपके लिए एक स्पेशल फ़ॉर्म्युलेशन तैयार किया है जिसका नाम है – टेराबेरीज़। यह लिक्विड फ़ॉर्म में 16 बेरीज़ का एक्सट्रैक्ट है जिसे आप हर दिन बड़े आसानी से ले सकते हैं। यह शुगर-फ़्री और बिल्कुल नैचुरल है।

इसीलिए, बेरीज़ को हेल्थ के लिए इतना गुणकारी माना जाता है। ये आपको निरोगी व दीर्घायु बना सकते हैं। इनमें कैलोरी कम और फाइबर, माइक्रो-न्यूट्रीयेंट्स, मिनेरल्स, विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट उच्च-मात्रा में होते हैं। आपको इन बेरीज़ को अपने दैनिक आहार में अवश्य शामिल करना चाहिए।

Written By : Dr Rajesh Singh

 

डिस्क्लेमर: यह ब्लॉग केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

 

 

Leave your comment